ये 3 कामों को अगर कोई विद्यार्थी छोड़ दे,तो उन्हें सफलता मिलना पका..

1.काम आचार्य चाणक्य का कहना है की एक छात्र को अपने कामवासना से कोसों दूर रहना चाहिए,ऐसा इसलिए...

क्यूंकि वो इस सोच में इतना डुब जाते है की पढ़ाई में उनका ध्यान ढंग से नहीं लग सकता.

2. क्रोध आचार्य चाणक्य के अनुसार क्रोध करने से सोचने-समझने की क्षमता धीरे धीरे ख्तम हो जाती है। गुस्से में हम कई बार हम ऐसे फैसले..

 य़ा काम कर देते हैं जिससे हमे जीवनभर  पछतना पड़ता हैं,ऐसे में एक छात्र को तो कभी गुस्सा करना ही नहीं चाहिए..

क्रोध करने से पढ़ाई से सारा ध्यान हट सकता है...

 3.अधिक सोना आचार्य चाणक्य के अनुसार अधिक सोना एक छात्र का सबसे बड़ा दुश्मन होता है..

ज्यादा सोने से आप हमेसाआलस से भरे रहेंगे, इसके अलावा आपका न ही पढ़ाई में मन लगेगा और न ही दिमाग साथ देगा, इसलिए...

एक छात्र को रोजाना 6-7 घंटे से ज्यादा नहीं सोना चाहिए.