20.9 C
New York
Tuesday, June 25, 2024

दिवाली से जुड़े महत्वपूर्ण 10 लाइन निबंध। Hindi essay on Diwali

दिवाली पर निबंध हिंदी में 10 लाइन।Diwali importance line in hindi 

TOC

diwali essay 10 line

इस पोस्ट के माध्यम से हम सभी दिवाली से जुड़ी 10 सबसे महत्वपूर्ण बातें जानेंगे। दिवाली को लंबे समय तक चलने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है। हम सभी भारतीय इस त्योहार को अपने परिवार के साथ बड़ी धूमधाम और धार्मिक आस्था के साथ मनाते हैं। दिवाली का त्यौहार पूरे 5 दिनों तक मनाया जाता है जो इस प्रकार है:- पहला दिन धनतेरस के रूप में मनाया जाता है।  जिस दिन मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। दूसरे दिन को नरक चतुर्दशी या छोटी दीपावली भी कहा जाता है। तीसरे दिन मुख्य दीपावली के दिन घरों में मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है, एक दूसरे को उपहार स्वरूप पकवान, मिठाई देते है और बच्चे पटाखे जलाते हैं। चौथे दिन लोग गोवर्धन पूजा करते हैं, इस दिन लोग श्रद्धा के साथ भगवान श्री कृष्ण की पूजा करते हैं और पांचवां अंतिम दिन भाई दूज के नाम से मनाया जाता है। इस दिन को भाई-बहनों का पावन पर्व माना जाता है। इस दिन बहन पूजा, व्रत और कथा कर अपने भाई की लंबी उम्र के लिए भगवान से प्रार्थना करती है।

दिवाली पर निबंध हिंदी में 10 लाइन।Diwali importance line in hindi 

दिवाली का त्योहार पूरे 5 दिनों तक मनाये जाने वाला उत्सव है।

दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

 

॰ इस दिन सभी परिवार खुशी-खुशी अपने घरों में दीप, दीपक और पटाखे जलाते हैं।


 दिवाली का त्योहार भगवान राम के 14 साल के वनवास के बाद अपने राज्य लौटने की खुशी में मनाया जाता है।


  इन्हें भी पढ़ें 

    ॰ दिल छू लेने वाली 20 जबरदस्त भक्ति सुविचार          

      ॰ दशहरा पर शानदार अनमोल विचार 

 दिवाली 5 दिनों का त्योहार है। पहला दिन धनतेरस के रूप में मनाया जाता है, दूसरे दिन को छोटी दीपावली के रूप में मनाया जाता है, तीसरे दिन को मुख्य दीपावली (लक्ष्मी पूजा के रूप में भी जाना जाता है), चौथा दिन गोवर्धन पूजा के रूप में और पांचवें दिन भैया दूज के रूप में मनाया जाता है।

 दिवाली हर साल दशहरे के 21 दिन बाद आती है।


 दिवाली के इस उत्सव पर लोग नए कपड़े, स्वादिष्ट व्यंजन, मिठाई और पटाखे जला कर इस उत्सव को बड़े धूमधाम से मनाते हैं।


 दिवाली के चौथे दिन लोग गांव के गोबर से अपनी दहलीज पर गोवर्धन बनाकर पूजा करते हैं.


 दिवाली के दिन लोग पासा, ताश जैसे कई तरह के खेल भी खेलते हैं।

 दीपावली वास्तव में दो शब्दों दीप+वाली से मिलकर बना है, जिसका वास्तविक अर्थ दीपों की पंक्ति है।

इन्हें भी पढ़ें 

        दिवाली पर निबंध,इतिहास जानने के लिए क्लिक करे

        जाने भैया दूज का इतिहास,और महत्व को ।

         जाने क्या है Dhanteras का इतिहास और                    जाने धनतेरस के दिन हम नई चीजें क्यों खरीदते हैं

       ॰ दुर्गा पूजा का इतिहास,महत्व,कहानी निबंध

       ॰ ये चीजें भारत को दुनिया से बेहतर बनाती हैं।





okkdheeraj
okkdheerajhttp://gyangoal.in
Blogger managing 3 websites, SEO professional, content writer , digital marketing enthusiast and also a frontend designer. Always ready to showcase and enhance my knowledge .

Latest Articles