Hardik Patel biography
Hardik Patel biography

Hardik Patel biography | हार्दिक पटेल का जीवन परिचय

आज का ये पोस्ट देश की राजनीति के उभरते हुये युवा नेता हार्दिक पटेल के जीवन के बारे मे विस्तार से होने वाली है। अगर आप हार्दिक पटेल का जीवन परिचय,परिवार,शिक्षा,लाइफस्टाइल,करियर, प्रारंभिक जीवन,शादी, राजनीतिक करियर,जीवन से जुड़े कई महत्वपूर्ण बातें जानना चाहते हैं इस पोस्ट के अंत तक बने रहे।

 

कौन है हार्दिक पटेल ? | Who is Hardik Patel ?

Hardik Patel
Hardik Patel biography

हार्दिक पटेल एक भारतीय युवा राजनीतिज्ञ हैं। जो मुख्य तौर पर देश के सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस के सदस्य हैं। इनका जन्म 20 जुलाई 1993 को चंदन नगरी गुजरात के एक पाटीदार परिवार में हुआ था। हार्दिक पटेल गुजरात राज्य के कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

>>>हेमंत विश्व शर्मा का जीवन परिचय।Himanta biswa Sarma biography in hindi.

 

हार्दिक पटेल का जन्म | Hardik Patel birthday, village

हार्दिक पटेल का जन्म 20 जुलाई 1993 को चंदन नगरी गुजरात में हुआ था। इनका पालन-पोषण गुजरात से ही हुआ। साल 2022 के अनुसार इनकी उम्र 29 वर्ष है।

 

 

 

हार्दिक पटेल की शिक्षा | Hardik Patel education

हार्दिक पटेल ने अपनी स्कूली पढ़ाई दिव्य ज्योति हाई स्कूल विरमगाम से पूरी की आगे श्री सहजानंद आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज अहमदाबाद से बीकॉम की डिग्री हासिल की

 

हार्दिक पटेल का परिवार | Hardik Patel wife, family details

हार्दिक पटेल का जन्म एक पाटीदार परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम भरत पटेल जो भारतीय जनता पार्टी बीजेपी के पूर्व कार्यकर्ता और एक बिजनेसमैन हैं और माता का नाम उषा पटेल जो एक ग्रहणी है। हार्दिक की एक बहन भी है जिसका नाम मोनिका पटेल है।

 

 

 

हार्दिक पटेल की शुरुआती करियर | Hardik Patel political career

हार्दिक पटेल साल 2012 मे गुजरात के स्थानीय समूह सरदार पटेल में शामिल हुए। जिसके बाद उनके बेहतरीन कार्य को देखते हुए उन्हें सरदार पटेल पार्टी का अध्यक्ष बना दिया लेकिन पार्टी के नेता लालाजी पटेल के साथ कुछ अनब हो जाने की वजह से उन्हें पार्टी को छोड़ने होना पड़ा।

आगे साल 2015 में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति का गठन किया। उसी वर्ष उनकी बहन मोनिका पटेल राज्य सरकार के स्कॉलरशिप पाने में असफल रही और दूसरी तरफ मोनिका पटेल की एक दोस्त को काफी कम नंबर होने के बावजूद भी स्कॉलरशिप मिल जाती है। इनसब भेदभाव को हार्दिक पटेल को देखा नही जाता है और वो इसी को मुद्दा बनाकर सरकार घेरने की कोशिश मे लग जाते हैं। जिसके बाद वो पाटीदारों को भी पिछड़ा वर्ग ओबीसी कि तरह आरक्षण देने की मांग करने लग जाते हैं इस आरक्षण का मुद्दा देखते-देखते पूरे गुजरात में तेजी के साथ फैल जाता है।

आगे उसी वर्ष 2015 में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) की शुरुआत करता है। वो आरक्षण को लेकर पूरे गुजरात में रैलियां करने लग जाते है देखते-देखते पूरे गुजरात में पाटीदार लोगो का सैलाब खड़ा हो जाता है हर तरफ पाटीदार लोगों ने जुलूस निकालना शुरू कर देता है। खासकर अहमदाबाद जैसे फेमस सिटी को पूरी तरह से जाम कर दिया गया था लोगों को घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया था। इसको देखते हुए राज्य सरकार को एक्शन लेना पड़ा राज्य सरकर को भारतीय सेना की मदद से पूरे शहर में कर्फ्यू लगाना पड़ा था। इस हादसे की वजह से हार्दिक पटेल को जेल भी जाना पड़ा।

>>>Kalicharan Maharaj Biography in hindi | कालीचरण महाराज का जीवन परिचय

 

 

 

हार्दिक पटेल का राजनीतिक करियर | Hardik Patel MLA, twitter, BJP

साल 2015 से वो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का हिस्सा बन जाते है और आगे साल 2017 में हो रहे विधानसभा चुनाव कांग्रेस पार्टी के लिए जोर सौर से रैली मे नजर आये थे लेकिन उसी दौरान उनके अपने चिराग पटेल और केतन ने उन पर पाटीदार समूह फंड के पैसों को अपने निजी जीवन में खर्च करने का आरोप लगा देता है। इन आरोपों से अभी उठे ही थे कि साल 2017 में उनका एक सेक्स टेप सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल जाता है इन विवादों की वजह से उनके शुरुआती राजनीतिक करियर पर काफी गहरा असर भी देखने को मिला। जिस कारण लोग डर्टी पोलटिक्स करने का आरोप भी लगाते देखे गये।

आगे साल 2019 में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की ओर से जमकर प्रचार रैलियां करने लगे और भारतीय राजनीतिक पार्टी बीजेपी को कड़ी टक्कर देने की भी बिगुल भी फूंक दी थी लेकिन इसी बीच वह रैलियों और सभा को संबोधित करने के दौरान लोगों के खिलाफ एक विवादित बयान दे बैठते है इस विवादित बयान को लेकर (BJP) भारतीय जनता पार्टी ने इसे भेदभाव बताते हुए उन पर उल्टा हमला कर देता है और बीजेपी की यह रणनीति सफल भी रहा था हालांकि हार्दिक के गुजरात लोकसभा चुनाव मे उनके कड़ी मेहनत को देखते हुए उन्हें कांग्रेस पार्टी ने गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष बना देता है।

>>कैप्टन विक्रम बत्रा की जीवनी,कहानी

Leave a Reply