harpreet chandi
harpreet chandi biography in hindi

हरप्रीत चंडी जीवन परिचय | Harpreet Chandi Biography in hindi

यह निश्चित रूप से अंतिम डिग्री में ठंडा लगता है जहां मैं अधिक ऊंचाई पर हूं। मैंने यहां अंतिम डिग्री में किसी को नहीं देखा है और अब मैं दक्षिणी ध्रुव से 15 समुद्री मील दूर हूं। मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि मैं लगभग वहाँ हूँ “, मील के पत्थर से एक दिन पहले रविवार से हरप्रीत चंडी कहती है ।

 

कौन है हरप्रीत चंडी? | Who is Harpreet Chandi ?

हरप्रीत चंडी भारतीय मूल की ब्रिटिश सिख सेना अधिकारी व फिजियोथेरेपिस्ट है। इनका जन्म यूनाइटेड किंगडम में हुआ था।
उन्होंने 3 जनवरी 2022 को दक्षिणी ध्रुव पर बिना किसी सहारे के कठिन यात्रा पूरी की है। उन्होंने इस कठिन यात्रा को करने वाली पहली अश्वेत महिला बनकर इतिहास रच दिया है।

Harpreet Chandi wiki, bio, information in hindi

पूरा नाम (Real name ) हरप्रीत चंडी
उपनाम (Nikname)पोलर प्रीत
व्यवसाय (Profession )आर्मी ऑफिसर वह फिजियोथैरेपी
जन्म तिथि (birthday)1989
जन्म स्थान (Birthplace)यूनाइटेड किंगडम
उम्र (age) 32 वर्ष (2021 के अनुसार)
स्कूल (School) सेंट जॉर्ज विश्वविद्यालय लंदन इंग्लैंड
कॉलेज (College) क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी लंदन इंग्लैंड
शैक्षणिक योग्यता (education Qualification) बीएससी फिजियोथैरेपी व स्पोर्ट्स और व्यायाम चिकित्सा से मास्टर की डिग्री
होमटाउन( Hometown)यूनाइटेड किंग्डम
राष्ट्रीयता (Nationality) ब्रिटिश
धर्म (Religion)सिख
वैवाहिक स्थिति (matrial status) शादीशुदा

 

शारीरिक आंकड़े | Harpreet Chandi height, weight

लंबाई (Height)5’9’फीट में
आंखों का रंग भूरा
बालों का रंग भूरा

 

हरप्रीत चंडी का परिवार | Harpreet Chandi Family

हरप्रीत चंडी का जन्म किस परिवार में हुआ था।वह अपने में कुल 5 सदस्य हैं। माता-पिता के बारे में कोई जानकारी ज्ञात नहीं है। लेकिन वह तीन भाई बहन है भाई का नाम प्रदीप सिंह चंडी और दुसरे का जग चंडी है।

हरप्रीत चंडी का वैवाहिक जीवन | Harpreet Chandi husband

हरप्रीत चंडी एक विवाहित जीवन व्यतीत कर रही है। वो डेविड जारमन से शादी की है। डेविद जारमन पेशे से एक सेना अधिकारी है।

 

हरप्रीत चंडी की शिक्षा | Harpreet Chandi education

हरप्रीत चंडी ने शुरुआती पढ़ाई अपने जन्म स्थान से पूरी की थी। जिसके बाद वह साल 2009-12 मे लंदन के सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी से बीएससी व फिजियोथैरेपी की डिग्री हासिल की। जिसके बाद वो क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी से खेल और व्यायाम चिकित्सा में मास्टर की पढ़ाई की थी।

 

दक्षिणी ध्रुव को फतेह करने की कहानी | Harpreet chandi trek solo to south pole

हरप्रीत चंडी कहती है ” मैंने इसे दक्षिणी ध्रुव पर बनाया जहां बर्फबारी हो रही है। अभी बहुत सारी भावनाएँ महसूस कर रहा हूँ। मैं तीन साल पहले ध्रुवीय दुनिया के बारे में कुछ नहीं जानता था और अंत में यहां होना कितना वास्तविक लगता है। यहां पहुंचना कठिन था और मैं सभी को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। यह अभियान हमेशा मुझसे बहुत अधिक था। मैं लोगों को अपनी सीमाओं को आगे बढ़ाने और खुद पर विश्वास करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहता हूं, और मैं चाहता हूं कि आप बिना विद्रोही लेबल के इसे करने में सक्षम हों। मुझे कई मौकों पर ना कहा गया है और कहा गया है कि ‘बस सामान्य काम करो’, लेकिन हम अपना खुद का सामान्य बनाते हैं ।

आप जो कुछ भी चाहते हैं उसके लिए आप सक्षम हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां से हैं या आपकी शुरुआत कहां है, हर कोई कहीं न कहीं से शुरू होता है। मैं सिर्फ कांच की छत को तोड़ना नहीं चाहता; मैं तोड़ना चाहता हूँ इसे एक लाख टुकड़ों में ।”

आपको बता दे हरप्रीत चंडी भारतीय मूल की ब्रिटिश सिख आर्मी ऑफिसर है।  South Pole को फतेह करने वाली वो पहली भारतीए मूल की महिला है। इस शानदार सफर के दौरान चंडी वीडियो बनाकर अपना एक्सपीरियंस लोगो से शेयर करती रही। अंततः हरप्रीत चंडी बन गई है पहली भारतीए मूल की महिला जिन्होंने दक्षिणी ध्रुव तक अकेला सफर तय किया।

Leave a Reply